नवरात्र क्यों मनाया जाता है, जानिए धार्मिक और वैज्ञानिक कारण

शक्ति उपासना के पावन पर्व चैत्र नवरात्रि की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं।

जगत जननी माँ जगदम्बा से प्रार्थना है कि सभी का जीवन सुख, समृद्धि, उत्तम स्वास्थ्य और सौहार्द से परिपूर्ण करें।

नवरात्र क्यों मनाया जाता है, जानिए धार्मिक और वैज्ञानिक कारण

13 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं नवरात्र, जानिए नवरात्र का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व।

नई दिल्ली। नवरात्र को मां दुर्गा का पर्व कहा जाता है। साल में दो बार नवरात्र मनाया जाता है, चैत्र नवरात्र और शारदीय नवरात्र। इस दौरान घर घर नौ दिनों तक मातारानी की विधि विधान से पूजा की जाती है। माना जाता है कि नवरात्र पर माता रानी की सच्चे मन से पूजा की जाए तो मुश्किल से मुश्किल काम भी बन जाते हैं। इस बार 13 अप्रैल से चैत्र के नवरात्र शुरू होने जा रहे हैं। जानिए क्या है नवरात्र का धार्मिक और वैज्ञानिक महत्व।

ये है धार्मिक मान्यता
शारदीय नवरात्रों में जिस तरह पूरे अनुष्‍ठान के साथ मां दुर्गा के नौ स्‍वरूपों की पूजा होती है ठीक वैसे ही चैत्र नवरात्रों में भी होती है। मान्यता है कि महिषासुर ने कठोर तपस्‍या करके देवताओं से अजेय होने का वरदान ले लिया था। इसके बाद महिषासुर ने अपनी शक्तियों का गलत उपयोग किया और देवताओं को भी परेशान करना शुरू कर दिया। इससे क्रोधित होकर देवताओं ने दुर्गा मां की रचना की और उन्हें तमाम अस्त्र शस्त्र दिए। इसके बाद शक्ति स्वरूप मां दुर्गा का महिषासुर से नौ दिनों तक संग्राम छिड़ा और आखिरकार महिषासुर का वध हुआ। इसलिए नवरात्र में मातारानी के शक्तिस्वरूप की पूजा होती है और नौवें दिन नौ कन्याओं को मां का रूप मानकर पूजा की जाती है। मान्यता है कि भगवान राम ने भी रावण को मारने के लिए नौ दिनों तक माता का व्रत व पूजन किया था और दसवें दिन रावण का वध किया था। तभी से दशहरा से पहले नौ दिनों को माता को समर्पित कर शारदीय नवरात्र के रूप में मनाया जाता है।

ये है वैज्ञानिक कारण
यदि इस पर्व को वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखें तो दोनों नवरात्र ऋतु संधिकाल में आते हैं यानी जब दो ऋतुओं का समागम होता है। उस दौरान शरीर में वात, पित्त, कफ का समायोजन घट बढ़ जाता है। रोग प्रतिरोधक तंत्र कमजोर हो जाता है। ऐसे में इम्यून सिस्टम मजबूत करने के लिए नौ दिन माता के पूजन व व्रत करके अनुशासनयुक्त जीवन जीने से शरीर की साफ सफाई होती है। ध्यान से मन की शुद्धि होती है और हवन से वातावरण शुद्ध होता है और हमारी इम्यूनिटी बढ़ती है।

  • Bitcoin
  • Ethereum
  • Tether
  • Litecoin
  • Bitcoin cash
  • Dogecoin
  • Tron
Scan to Donate Bitcoin to 1Dg2ireGmYMVf4sTcvuWQaZstdR8EnthEb

Donate Bitcoin to this address

Scan the QR code or copy the address below into your wallet to send some Bitcoin

Scan to Donate Ethereum to 0xF54DC05bA53Bdf3e2ec1a0A91f1bE2E4Ddd9498A

Donate Ethereum to this address

Scan the QR code or copy the address below into your wallet to send some Ethereum

Scan to Donate Tether to 0xF54DC05bA53Bdf3e2ec1a0A91f1bE2E4Ddd9498A

Donate Tether to this address

Scan the QR code or copy the address below into your wallet to send some Tether

Scan to Donate Litecoin to MTmLNejmMEyHZKMvCo772BMPrnvvEnysgi

Donate Litecoin to this address

Scan the QR code or copy the address below into your wallet to send some Litecoin

Scan to Donate Bitcoin cash to qz9sx26gc4qlq79tsew3jncjd3rmvq2zfyq7qkl4p7

Donate Bitcoin cash to this address

Scan the QR code or copy the address below into your wallet to send some Bitcoin cash

Scan to Donate Dogecoin to DDgrBwdv6D1b7zdYcdHLf51wBpgDgpRwaC

Donate Dogecoin to this address

Scan the QR code or copy the address below into your wallet to send some Dogecoin

Scan to Donate Tron to TPJdMPwpFysraDRJv2ZY4QfkqWnmH4QpYN

Donate Tron to this address

Scan the QR code or copy the address below into your wallet to send some Tron


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *